728x90 AdSpace

Loading...
  • Latest News

    Gharelu Upchar. Blogger द्वारा संचालित.

    Low Blood Pressure Treatment Hindi

    LOW BLOOD PRESSURE 

    निम्न रक्त चाप

    What is low blood pressure?


    रक्तचाप Blood Pressure (BP) किसे कहते है ?
    ह्रदय शरीर  सभी अंगो को नसों और धमनियों  के माध्यम से रुधिर या रक्त को पहुँचाने का काम करता है। इस रुधिर प्रवाह  या रक्त के बहने के समय ह्रदय  एक दबाव पैदा करता है जो रक्त नलिकाओं और धमनियों  के अंधरूनी भाग पर पड़ता है। इस दबाव को रक्तचाप और अंग्रेजी में Blood Pressure कहते है। रक्तचाप से आपके पुरे शरीर में खून बहता है।
    मोटी  भाषा में बोला जाये की  लो निम्न रक्तचाप में ये खून को  ऑक्सीजन दिमाग में ले जाने से रोकता है। केवल ऑक्सीजन ही नही बल्कि अन्य पोषक तत्व भी दिमाग तक नहीं  जा पते low blood pressure के कारन। ब्लडप्रेशर को अंग्रेजी  की भाषा में हाइपोटेंशन (hypotension) के नाम से जानते हैं। सामान्य रक्तचाप क्या है ?
    रक्तचाप को  Sphygmomanometer  मशीन की मदद से मापा जाता है। एक सेहतमंद आदमी के लिए रक्तचाप, सिकुड़ने के समय १२० m.m.g होना चाहिए (अंग्रेजी में दाब को  Systolic Blood Pressure कहते है जो 120 m.m.g  होता है) और जब दिल या हृदय नही सिकुड़ता है तब ८० m.m.g  (अंग्रेजी में दाब को Diastolic Blood Pressure 80 m.m.g  होता है )। इसे आमतौर पर एक फॉर्म के रूप में लिखा जाता है-(Diastolic Blood Pressure/Systolic Blood प्रेशर)+यूनिट   (120/80 m.m.g) लिखा जाता है।
    निम्न रक्त चाप क्या है या निम्न रक्त चाप किसे कहते है?
    निम्न रक्तचाप (अंग्रेज़ी:हाइपोटेंशन) वह दाब है जिससे धमनियों और नसों में रक्त या रुधिर बहने की दर कम हो जाती है। जब खून बहने की दर काफी कम हो जाती है तो मस्तिष्क, हृदय तथा गुर्दे जैसे महत्वपूर्ण अंगो में ऑक्सीजन और पौष्टिक पदार्थ जो खून में मिले होते है वो  नहीं पहुंच पाते जिससे मस्तिष्क, हृदय तथा गुर्दे जैसे महत्वपूर्ण अंगो सही से कम नहीं कर पाते है और जिससे हमारे मस्तिष्क, हृदय तथा गुर्दे जैसे महत्वपूर्ण अंग स्थायी रूप से ख़राब हो जाते है।
                                                    एक बात हमारी ध्यान में हमेशा रखयेगा बहुत से इंटरनेट में आर्टिकल भरे पड़े है जिसमे ब्लड प्रेशर की संख्या आधार पे वो कहते है इंसान को ब्लड प्रेशर है लेकिन ऐसा नही भाइयो उच्च रक्तचाप को ब्लड प्रेशर की संख्या के आधार पे नापा जाता है। और निम्न रक्तचाप की पहचान सिर्फ सिर्फ  लक्षण और संकेत से होती है और किसी माध्यम से नही होती है। किसी-किसी इंसान (औरत और आदमी)  का रक्तचाप ९०/५० होता है लेकिन उसमें निम्न रक्त चाप के कोई लक्षण दिखाई नहीं देते हैं लेकिन उन आर्टिकल पे ध्यान दे तो भला चंगा इंसान भी परेशानी में आ जाये की उसको low blood pressure है। कभी कभी डॉक्टर लोग ऐसा ब्लड प्रेशर की आधार पे कह देते की ब्लड प्रेशर है पर वो डॉक्टर तजुर्बे कर नही होते है
       Low blood pressure होने बहुत से कारण हो सकते है जैसे कोई बीमारी जिससे आपके अंगो खून का प्रवाह कम हो जाता है फिर भी मै प्रमुख कारण बता रहा हु जिसे low blood pressure हो सकता है -
    1) आर्थोस्टेटिक हाइपरटेंशन टाइप ब्लड प्रेशर जिसमे मरीज अचानक से खड़ा होता होता तब उसे चक्कर आ जाते हैं, और वो गिर जाता है या तुरंत उसी जगह पे  बैठ जाता हैं क्योंकि उसका ब्लड प्रेशर एकदम से 20 पॉइंट से नीचे गिर जाता हैं। यह काफी हद तक वैस्क्यूलर एवं नर्वस सिस्टम पर आधारित खामी है। लेकिन बार एलोपैथी दवाओं के दुप्रभव से या एलर्जी से आपका ब्लड प्रेशर गिर जाता है और चक्र आ जाता हैं।
    2) दूसरी वजह है  दिल की बीमारी (हार्ट डिजीज) जिसमे मरीज का ब्लडप्रेशर कम दिल की (हार्ट) की गंभीर बीमारी से होता है ऐसा इसलिए  होता क्योकि दिल बीमारी के कारण अच्छे तरीके से कम नही कर पाता हैं जिससे हमारे जरुरी अंग तक खून नही जा पाता है जिससे अंग कम नही कर पाते है। दिल की बीमारी के कुछ प्रमुख नाम है - हार्ट के एयॉटिर्क, माइट्रल वॉल्व की सिकुड़न (स्टिनोसिस), लीकेज की बीमारी, हार्ट फेल्योर (लो पंपिंग कपैसिटी), हार्ट की स्पीड की अनियमितता (एट्रियल फिब्रिलेशन या वेंट्रीक्यूलर एब्नॉर्मल बीट्स)

    Low blood Pressure Causes
    Low Blood Pressure Illaj

    निम्न रक्तचाप के मुख्य कारण

    • खून की नसों का चौड़ा हो जाने से रक्त प्रवाह का दाब कम जाता है और महत्वपूर्ण अंगो तक उचित समय खून नही जा पाता जिससे low blood pressure हो जाता है।
    • हाइपोथॉयराइड रोग से low blood pressure होता हैं। 
    • मधुमेह होने की सूरत में हमारे शरीर के मस्तिष्क, हृदय तथा गुर्दे जैसे महत्वपूर्ण अंग कम नही कर पाते है मधुमेह भी निम्न रक्तचाप का प्रमुख कारण है। 
    • लीवर सम्बन्धित रोग  Low blood pressure   कारण हैं 
    • डीहाइड्रेशन एक प्रमुख कारण है निम्न रक्तचाप का 
    • अधिक पसीना आना भी निम्न रक्तचाप का कारणहो सकता हैं 
    • अगर किसी इंसान को लगातार बुखार रहता है अकसर आ जाता है उनको भी निम्न रक्तचाप की समस्या आ जाती और चक्कर आने लगते है है 
    • जो लोग घर से बाहर रह के नौकरी या पढाई करते है उनके भोजन मेँ पोषक तत्वोँ की कमी हो जाती है जीससे उनको low blood pressure हो जाता हैं। 
    • कुपोषण एक बड़ी समस्या है low blood pressure की इस तरह जो low blood pressure होता है वो महिलाओ में जड़ा होता हैं। 
    • अगर इंसान शरीर में खून की कमी है तो निम्न रक्तचाप जरूर हो जायेगा। 
    • पेटआंतों, किडनी और ब्लैडर मेँ खून प्रवह कम होने से निम्न रक्तचाप की समस्या आ जाती है 
    • निराशा का भाव मन में लगातार बनें रहने से भी low blood pressure हो जाता है। 
    • ज्यादा गर्म वातावरण में रहना से low blood pressure हो जाता है।

    निम्न रक्त चाप -low blood pressure के लक्षण

    • चक्‍क्‍र आना, आंखों के सामने अचानक से  अंधेरा छा जाता है। 
    • जिनको low blood pressure होता है उनकी हार्ट बीट अचानक से तेज हो जाती है। 
    • जब निम्न रक्त चाप होगा तब अचानक से हाथ पैर ठंडे पड़ जायेगे और उनको बहुत ज्यादा डर लगेगा और यहाँ तक वो जोर जोर से रोने लगेंगे (महिलाये विशेषकर) । 
    • निम्न रक्त में इंसान को आलसीपन और सुस्ती ज्यादा लगती है और इस चक्कर में ज्यादा सोने लगते है। 
    • सिर दर्द ज्यादा तेज़ होता है इसकी वजह डर और अधिक किसी विषय पर सोचना। 
    • सीने में दर्द अचानक से होने लगता है 
    • Low blood pressure होने पर इंसान को बिना कंट्रोल के बहुत बहुत ज्यादा गुस्सा बहुत जल्दी आता है। 
    • निम्न रक्त चाप में मरीज को छाती (chest) में हल्का हल्का दर्द लगता है| 
    • चेतना या यादास्त कमजोर हो जाती है low blood pressure में 
    • मरीज या रोगी को सामान्य इंसान से ज्यादा  पसीना  आता है 
    • उल्टी आना भी Low blood pressure का लक्षण है ये इसलिए होता क्योकि रोगी  बहुत ज्यादा डर लगता है । 
    • सांस की तकलीफ भी low blood pressure लक्षण है । 
    • निम्न रक्त चाप में गर्दन अकड़ी रहती है 
    • Low blood pressure कारण गंभीर ऊपरी पीठ दर्द होता है। 
    • जब अचानक  ब्लडप्रेशर लो है तब निम्न बातो का जरूर अपनाये 
    • जब आपका ब्लड प्रेशर लो हो तो आप तुरंत ही बैठ जाये या फिर  लेट जाएं, अपनी मुट्ठियों को खेले और बंद करें, लंबी सांस ले जितने तेजी से उतनी तेजी बाहर निकले जिससे रक्त का प्रवाह तेज़ हो 
    • चीनी, नमक तथा नींबू का शर्बत पिएं पर एक साथ ज्यादा मत पिए थोड़ थोड़ा पिए जिससे उलटी न आये 
    • अगर आप लेट गए है तो पैरों के नीचे दो तकिए लगाकर लेते जिससे शरीर एक सामान हो जाये और खून सभी अंगो बराबर से दौड़ सके 
    • धीरे धीरे 1 गिलास पानी पियें जिससे लो ब्लड में आराम मिलता है। 
    • निम्न रखत चाप में तब तक न हिले डुले जब तक पूरा आराम ना मिले आपको या आपके शरीर को। 
    • सुबह शाम टहलने जाये, कोशिश करे की कम से कम 15 से 20 मिनट तेज़ कदमो से चल-कदमी करें | 
    • अपने वजन को कम करे| 
    • Low blood pressure  में मरीज को बोलना बंद करके, बाईं करवट करके सो जाना चाहिए अगर नींद ना तब बाई करवट ही लेता रहना चाहिए। अगर आपको नींद आ जाती है low blood pressure  मरीज को बहुत फायदा करेगी। 
    • किसी भी तरह का नशापान जैसे की बीड़ी, सिगरेट, तम्बाकू, गुटका का उपयोग  ना करे अगर नही करते एक दम बंद तो काम तो कर ही दीजिये जीवन अनमोल है इसे ऐसे न बर्बाद करे नियमित व्ययाम करे परन्तु सुविधा जनक कपडे पहन कर| 
    • शराब/अल्कोहल का ज़रा भी सेवन न करे ये आपकी हालत बहुत बहुत ज्यादा ख़राब कर देगी|

    Low Blood Pressure  Treatment  Hindi 

    निम्न रक्त  का आयुर्वेदिक घरेलु उपचार

    डॉक्टर द्वारा बताए गए ब्लड प्रेशर दवाई को नियमित रूप से ले साथ ही साथ अपनी सुविधा अनुसार नीचे लिखे कोई भी आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खा अपना लीजिये पर डॉक्टर से पूछ करके -

    • 1 ग्लास पानी में 20 तुलसी के पत्ते , 6 काली मिर्च और 3 लौंग डालकर अच्छी तरह उबाल लीजिये। और जब आधा पानी रह जाये तो इसे छानकर हल्का गर्म ही पिए low blood pressure  में बहुत फायदा करता है आप भी अपना सकते है।
    • 1 चम्मच शहद में 1/4 छोटा चम्मच लहसुन का रस मिला कर रोज  सुबह, दोपहर, शाम को 1चम्मच ले निम्न रक्त चाप
    • अगर आप इसको रोज लगे एक समय ऐश आएगा आपका निम्न रक्त चाओ ठीक हो जायेगा।
    • इससे निम्न रक्तचाप यानि Low blood pressure  धीरे-धीरे ठीक हो जाता है।
    • 1/4 चम्मच हल्दी पाउडर, 1/4 चम्मच धनिया पाउडर, 1 चुटकी अदरक का पाउडर या पिसी हुई सौंठ, 1 चुटकी इलायची पाउडर और 2 चम्मच चीनी मिला ले। फिर 1 बर्तन में 1 कप दूध और 1/2 कप पानी और यह मिश्रण डालकर चाय की तरह उबाल ले।फिर इसे छान लीजिये।इसे गर्म ही पीजिये और इस दूसरी तरह की चाय मज़ा लीजये और निम्न रक्त चाप से मुक्ति पाये।इस मिश्रण को रोज़ाना दिन में 1 बार (सुबह के समय) पीने से कुछ ही समय में  निम्न रक्तचाप में सुधार अत है।
    • किशमिश 15  रात भर पानी में भिगोएँ और उसका पानी फेके न उसको पी ले और सुबह एक एक किशमिश बहुत  चबा चबा कर खाए। इसको २ महीने प्रयोग में लए
    • ९ बादाम  रात भर पानी में भिगो कर रख दे, छिलका निकाल कर, अच्छी तरह पीसकर 250 मिली दूध के साथ कर पीजिये Low blood pressure बहुत फायदा करता है।
    • निम्न रक्तचाप ज्यादा गिरने पर चुटकी भर नमक पानी में घोलकर पियें पर हमेशा इस विधि का प्रओग न करे नुकसान आपका ही होगा।
    • कटहल में पोटैशियम अधिक पाया जाता है इसलिए कटहल का प्रयोग खाने में अधिक करना चाहिए। कटहल low blood pressure में बहुत फायदा करता है।
    • गाजर के रस में शहद मिलकर पीने से low blood pressure में फायदा होता है।
    • गाजर का मुरब्बा भी low blood pressure में कारगर इलाज साबित होता है।
    • नींबू का रस low blood pressure में बहुत बहुत फायदेमंद जरुरी होता है। इसके लिए लेमन जूस में हल्का सा नमक और मिश्री  डालकर घोल बना ले फिर इसको पीजिये जरूर फायदा  होगा साथ ही आपके शरीर को शक्ति और लिवर गुर्दा भी सही रहेगा।
    • 100 ग्राम देशी चने व 20 ग्राम किशमिश को रात में 300 ग्राम पानी में किसी भी कांच के बर्तन या कांच का बर्तन ना हो तो प्लास्टिक के बर्तन में रख दे और  सुबह इसका पानी भी पिए और  चनों को किशमिश के साथ अच्छी तरह चबा चबा कर खाएं।
    • छाछ में नमक, भुना हुआ जीरा व थोड़ी सी भुनी हुई हींग मिलाकर रोजाना शाम को पीने से ब्लड प्रेशर लो नहीं होता है और ये बहुत आसान और सरल नुस्खा है।
    • टमाटर के रस में थोड़ी सी काली मिर्च व नमक मिलाकर पीने से low blood pressure बहुत फायदा करता करता है।
    • आंवले या सेब के मुरब्बे  low blood pressure में बहुत ही ज्यादा उपयोगी है।
    • आंवले के 2 ग्राम रस में 10 ग्राम शहद मिलाकर कुछ दिन सुबह पीने से Low blood pressure को होने जल्दी होने नही देता है।
    • Low blood pressure को ना होने के चुकंदर रस काफी अधिक भूमिका निभाता है।अगर  रोजाना चुकंदर रस सुबह-शाम पिए निम्न रखत चाप कभी होगा।
    • रात को सोने से पहले छुहारे को  दूध में मिलकर पिने से या खाने से  low blood pressure की समस्या से आराम मिलता है।


    • Blogger Comments
    • Facebook Comments
    Item Reviewed: Low Blood Pressure Treatment Hindi Rating: 5 Reviewed By: Gharelu Upay

    News Ticker

    loading...
    Scroll to Top