728x90 AdSpace

Loading...
  • Latest News

    Gharelu Upchar. Blogger द्वारा संचालित.

    Urine-Burning in Urine-Peshab Me Jalan Treatment hindi

    peshab rog in hindi, pesab rog in hindi, peshab me jalan ka ilaj, pesab me jalan ka ilaj, mutra rog in hindi, peshab me jalan ki dua, mutra rog ke lakshan, urine me jalan ka ilaj, pesab me jalan, peshab rokne ke upay, urine me jalan in hindi, peshab me jalan, peshab me jalan ke upay, bar bar peshab ka ilaj in hindi, peshab me jalan ka gharelu ilaj, urine problem in male in hindi, safed daag ka ayurvedic ilaj, peshab jalan, pesab me infection, Urine-Burning, Burning Urine Gharelu Nuskhe, Urine-Burning upchar


                                               पेशाब में जलन 

     peshab rog in hindi, pesab rog in hindi, peshab me jalan ka ilaj, pesab me jalan ka ilaj, mutra rog in hindi, peshab me jalan ki dua,  urine me jalan ka ilaj, pesab me jalan, peshab rokne ke upay, urine me jalan in hindi, peshab me jalan, peshab me jalan ke upay, bar bar peshab ka ilaj in hindi,

    Urine(Mutra)-Peshab rog in hindi

    Peshab ya Mutra (Urine) na hone par ya ruke rahne par  Mutrashay Kaapkar ful jata hai. peshab rogi ko bechani hoti hai. Kabhi-Kabhi mutra ya peshab (Urine) ki vishali cheze khoon me mil jati hai. Aur khoon ke sath milkar dimag tak pahuch jati hai. Jisse bhut se dimagi rog ho jate hai. Mutrashay se peshab (urine) ikatha hokar yadi rukavat ke karan bahar nahi ja pata hai to is rog ko Mutravirodh ya urine problem kahte hai.
    (1) फूल गोभी- इस रोग में फूल गोभी की सब्जी उपयोगी है। 

    (2) पेठा- पेशाब में जलन होने पर आगरे के पेठे के दो-दो टुकड़े नित्य खायें। यदि पेठे का रस पीयें तो ज्यादा लाभदायक है। 

    (3) भिण्डी-  इसकी सब्जी खाने से पेशाब की जलन दूर होती है। पेशाब खुलकर साफ आता है।

    (4) तोरई-  यह जलन दूर करती है तथा पेशाब खुलकर आता है।
    Peshab me jalan gharlu illaj

    (5) चावल-  आधा गिलास चावल के माण्ड में चीनी मिलाकर पिलायें, इससे जलन दूर होगी। 

    (6) गेहूँ-  रात को 12 ग्राम गेहूँ 250 ग्राम पानी में भिगो दें। प्रातः छानकर उस पानी में 25 ग्राम मिश्री मिलाकर नित्य पीने से पेशाब की जलन ठीक होती है।


    (7) मक्का- पेशाब में जलन हो तो ताजा मक्का के भुट्टे पानी में उबाल कर उस पानी को पानी छानकर मिश्री मिलाकर पी जायें। 

    (8) दूध- कच्चे दूध में पानी मिलाकर दो बार नित्य पीयें। 

    (9) बादाम-  पाँच बादाम की गिरी भिगोकर, छीलकर इनमें सात छोटी इलायची और स्वादानुसार मिश्री मिलाकर पीसकर एक गिलास में पानी घोलकर सुबह-षाम पीयें। 

    Peshab me jalan ka gharelu ilaj, urine problem in male in hindi, peshab jalan, pesab me infection


    (10) जौ-  एक कप जौ में एक किलो पानी डालकर उबालकर पी जायें। यह पेषाब की जलन में अति लाभदायक है। 

    (11) कतीरा-  यह पेषाब की जलन दूर करता है। यह रात को भिगोकर प्रातः शक्कर मिलाकर खायें। 

    (12) पानी-  ठण्डे पानी या बर्फ के पानी में कपड़ा भिगोकर नाभि के नीचे बिछाये रखें, इससे पेषाब खुलकर आता है। 

    (13) आँवला-  हरे आँवले का रस 60 ग्राम, शहद 30 ग्राम- इन दोनों को मिलाकर दिन में तीन बार पीयें। यह एक मात्रा है। ऐसी तीन मात्रा लें। इससे पेशाब खुलकर आयेगा, जलन और कब्ज ठीक होगी। 

    (14) अनार-  अनार का शर्बत पेशाब की जलन मिटाता है। नित्य दो बार पीयें। 

    (15) फालसा-  फालसा पेशाब की जलन को दूर करता है। 

    (16) धनिया-  1. 15 ग्राम धनिया रात को पानी में भिगों दें। सुबह उसे ठण्डाई की तरह पीस, छानकर मिश्री मिलाकर पीयें। इससे पेशाब की जलन दूर होगी। वासना नहीं सतायेगी।

     2. धनिया और आँवला रात को भिगोकर प्रातः मसलकर उस पानी को पीने से पेशाब की जलन दूर हो जाती है। ;3द्ध  सूखा धनिया कूट, पीसकर छान लें। इसमें सामान मात्रा में पिसी हुई चीनी मिलायें। सुबह भूखे पेट रात के बासी पानी से एक चाय के चम्मच की फँकी लें। और एक घण्टे तक कुछ न खायें, पीयें। इसी प्रकार एक खुराक शाम को 5 बजे सवेरे के बासी पानी से लें। यदि कब्ज हो तो रात को सोते समय दो चम्मच ईसबगोल की भूसी गरम दूध से लें। इससे मूत्राषय की जलन ठीक हो जाती है। 

    (17) इलायची-  इलायची को पीस कर दूध के साथ लेने से मूत्र खुलकर आता है तथा मूत्रदाह बन्द हो जाता है। 

    (18) प्याज-  50 ग्राम प्याज बारीक काटकर आधा किलो पानी में उबालें। आधा पानी रहने पर छानकर ठण्डा करके दो बार नित्य पिलायें। इससे पेषाब की जलन दूर होगी। 

    (19) ईसबगोल- ईसबगोल को भिगोकर उसमें बूरा डालकर तीन बार नित्य पीने से पेषाब की जलन दूर होती है। 

    (20) तुलसी-  पेशाब में जलन होने पर तुलसी की पत्ती चबाने से लाभ होता है। 

    (21) तरबूज-  ओस में रखे हुए तरबूज का रस निकाल कर प्रातः शक्कर मिलाकर पीने से पेषाब की जलन में लाभ होता है।  

    • Blogger Comments
    • Facebook Comments
    Item Reviewed: Urine-Burning in Urine-Peshab Me Jalan Treatment hindi Rating: 5 Reviewed By: Gharelu Upay

    News Ticker

    loading...
    Scroll to Top