728x90 AdSpace

  • Latest News

    Gharelu Upchar. Blogger द्वारा संचालित.

    कब्ज रोकने 80 आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे- Top 80 Treatment for Constipation-kabj Hindi

                                              Constipation                                                                  कब्ज


                                                               
    कब्ज से जितने बुद्धिवादी ग्रस्त हैं, उतने अन्य रोगों से नहीं। कब्ज का अर्थ है- समय पर मल-त्याग न होना, मल-त्याग कम होना, मल में गाँठ निकलना, लगातार पेट साफ न होना, नित्य टट्टी नहीं जाना, भोजन पचने के बाद उत्पन्न मल पूर्ण रुप से साफ न होना, टट्टी जाने के बाद पेट हल्का एवं साफ होने का अनुभव न होना आदि।फल ,हरी सब्जिया सलाद आदि में विद्यमान रेशा मलत्याग हेतु आंत की प्रेरक गति के लिए आवश्यक है।  भजन में लगाता इनका सर्वथा अभाव या बिलकुल कम मात्रा में सेवन कब्ज का मुख्या कारण है। इसी प्रकार अन्न के चोकर में उपस्थित विटामिन बी भी इस पाचन क्रिया में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है और चिलकरहित अनाज जैसे मैदा,बिना चोकर का पतला आता ,मशीन का पोलिश किया चावल यदि लंबे समय तक भोजन में लिए जाए एतो कब्ज उत्पन्न करते है द्य यकृत से निकलने वाला पाचक पित्त भी आंत की इस क्रिया में सहायक होता है ,आलस्य एशारीरिक श्रम का अभाव ,मोटापा,पीलिया,कमजोरी ,मधुमेह,क्षयरोग बुढ़ापा आदि अन्य ऐसे कारण है जिनसे आते निर्बल हो जाती है आंतो की निर्बलता के कारण उनकी क्रिया शीलता और कार्यशीलता प्रभावित होने से कब्ज हो सकता है बराबर अजीर्ण के कारण तथा पेट बम अधिक गैस बनने के कारण भी मल  का निष्कासन  भली-भांति नहीं हो पाता तम्बाकू व अन्य नशीले पदार्थो के सेवन से प्रोस्टेट ग्रंथि में सूजन एआंत में कैंसर या टी बी होने से भी कब्ज बना रहता है किसी  स्थान का पानी भारी होना भी कब्ज का कारण हो सकता है,चिंता,शोक,क्रोध,विक्षुब्धता,उदासी,अवसाद,अप्रसन्नता,तनाव आदि मानसिक कारणों से भी पाचक रसो और आंतो की कार्यप्रणाली प्रभावित होती है एजो अंततः कब्ज केकारण बनती है पेट में कीड़े होने के कारण भी कब्ज हो सकता है।कब्जियत का अर्थ है- पेट की नियम पूर्वक सफाई न होना, मल कड़ा होना, मल त्याग में देरी होना और आंतों की गति अनियमित हो जाना। इंसानो में मल त्याग की आदत अलग-अलग होती है. जब संभावित समय पर दो-चार बार जाने पर भी मलत्याग न हो तो तब व्यक्ति अपने आपको कब्ज (kabj) से परेशान मान लेता है। अगर मलत्याग के दौरान आपको अधिक जोर लगना पड़े  और मल सूखा और कड़क आये तो निश्चित रूप से कब्ज (kabj) है। सामान्यतः कब्ज (kabj) कोई रोग नहीं पर इससे अन्य रोग पैदा हो जाता है।  

                                   Symptoms of Constipation
    कब्ज के लक्षण(Kabj ke lakshan)


    1. मल त्याग कठिनता से होता है।
    2. शौंच जाने के बावजूद पेट साफ़ नहीं होता।
    3.  पेट में भारीपन बना रहता है।
    4. मल चिकनाई युक्त रहता है।
    5. शरीर में स्वाभाविक स्फूर्ति नहीं रहती है।
    6. पेट में गैस बानी रहती है।
    7.भूखन में क्रमशः कमी आती जाती है।
    8. लंबे समय तक कब्ज रहने की स्थिति में पेट में दर्द एखट्टी डकारे व पेट       में जलन शुरू हो जाती है।
    9.व्यक्ति को बेचनी। 
    10.पेट दर्द। 
    11.सर दर्द । 
    12.जी मचलना। 
    13.पेट फूलना । 



    Kabj Dur karne ke Gharelu Nuskhe
    Kabj Dur karne ke Gharelu Nuskhe

    Causes of Constipation
    कब्ज के कारण(Kabj Hone Ke Karan)


     कब्ज होने के मुख्य कारणों में है असमय भोजन करना अधिक देर तक बैठे रहना अपाच्य भोजन करना कब्ज का देसी इलाज काफी सरल है , कब्ज के कारण शरीर तंत्र प्रभावित होकर अनेक रोग उत्पन्न हो जाते है इस अध्याय में स्वदेशी चिकित्सा द्वारा कब्ज कैसे दूर किया जाए यह उपाय बताया जा रहा है।पर्याप्त कहना या भोजन न करने से कब्ज (kabj) हो सकता है। 
    तेज़ बुखार या बुखार दूर करने के इंग्लिश दवा के बुरे प्रभाव से कब्ज (kabj) हो जाता है। 
    मल उत्सर्जन की अनियमित आदत से कब्ज (kabj) हो जाता है। 



    Gharelu Upay| Desi Nuskhe| Desi Tutke| Desi Ilaj|Gharelu Upchar|Home Remedies  |Ayurvedic Nuskhe- Constipation (kabj)



    1. Kabj Dawa,तीन माशा आवला चूर्ण की फांकी पानी से ले द्य चूर्ण न ले तो २.४ माशा सूखे आंवले रात में भिगोकर रख दे द्य उसी पानी को सुबह मथकर छानकर पी जाइये द्य तुरंत पाखाना जाना पद जाएगा।

    2.Kabj ke upay in hindi,   गाजर व पालक का रस मिलाकर उसमे एक निम्बू निचोड़े और चार चम्मच शहद के साथ पि जाए  कब्ज के लिए यह रामबाण औषधि है।

    3.Kabj kaise dur kare आधा चम्मच सेंधा नमक को एक निम्बू निचोड़ कर  ग्लास भर पानी के साथ पी जाए।

    4.Qabz ka ilaj,  अगर कब्ज की समस्या रोज बनी रहती है तो अदरक को बारीक काट ले  तथा सुबह -शाम गुड़ के साथ खाये।



    5.Kabz ka gharelu upcharअगर  कब्ज की समस्या रोज बनी रहती है  बानी रहती है तो अदरक को बारीक काट ले  तथा सुबह-शाम गुड़ के साथ खाये।

    6.Kabj ka ilaj  साग सब्जी में लहसुन का अधिक प्रयोग करे।

    7.Qabz ka gharelu ilajसामान्य कब्ज में बब्बूगोशा खाये।

    8. Kabz constipationयदि कब्ज के कारण पेट पथ्थर सा हो गया हो तो आधा गिलास नाशपातियों का रस पिए।


    9., Qabz ka gharelu ilaj काली निशोध का चूर्ण ३ माशा को ६ माशा देने से रोगी को दस्त होता है  ज्वर में दस्त लाने की यह सबसे अच्छी  औषधि है।

    10.Kabj Gharelu Upchar पुराना बिगड़ा हुआ कब्ज हो तो दो संतरो का रस ८-१० दिन तक लेने से कब्ज ठीक हो जाता है  संतरे के रस में नमक ,बर्फ, अथवा मसाला इत्यादि नही होना चाहिए।


    11.Kabj Dawa, जंगी  हरड़ अमलतास का गूदा पीपरामूल नागरमोथा  कुटकी इन सबको ६.६ माशा लेकर आधा किलो पानी में औटाये जब चौथाई पानी रह जाय तब उतार कर छान ले  इसके क्वार्ट्स  दस्त साफ़ होता है।

    12.Kabj ke upay in hindi,  यदि रोगी गर्म मिज़ाज़ हो तो २० ग्राम गुलकंद  १५ बीज निकले मुनक्के उबालकर खिलाये रोगी को जल्द ही लाभ  होगा।

    13.Kabj kaise dur kare  गुठली निकाली हुई बड़ी हरड़ का मुरब्बा एक अथवा दो चम्मच नग खिलाकर ऊपर से २५० ग्राम दूध पिला देने से ही ३.४ दस्त हो जाते है  नाजुक मिजाज को एक हरड़ भी ज्यादा नहीं देनी चाहिए ।

    14. Qabz ka ilaj,  कब्ज की अधिकता के कारण यदि बुखार में दस्त कराना हो २.२ टोला अरंडी के तेल को २५० ग्राम दूध में मिलकर गर्भवती स्त्री तक को दिया जा सकता है।

    15.Kabz ka gharelu upchar आम खाके दूध पीने से भी कब्ज दूर हो जाता है।

    16.Kabj ka ilaj  आवला सुख ३.४ ग्राम रात को पानी में भिगोकर सुबह मसलकर अथवा छानकर पानी पीने से कब्ज की शिकायत दूर हो जाती है।

    17. Qabz ka gharelu ilaj सेब और चुकुन्दर का रस पीते रहने से भी कब्ज दूर होती है।

    18. Kabz constipation सुबह उठके दो गिलास पानी  पीने व एक गिलास में निम्बू डालकर पीने से कब्ज दूर होता है।


    19. Qabz ka gharelu ilaj आड़ू का रस १ध्२ प्याला नित्य पीते रहने से कब्ज दूर हो जाती है।

    20.Kabj Gharelu Upchar चोकर  सहित आते की रोटी आ छिलका रहित दाल का प्रयोग करने से पेट साफ़ रहता है।


    21. Kabj Dawa,ताज़ा आवला खाते रहने से भी पेट साफ़ रहता है।

    22.Kabj ke upay in hindi,  हल्दी का चूर्ण एक चम्मच प्रतिदिन सोने से पूर्व दूध के साथ लेने से कब्ज व बवासीर से छुटकारा मिल जाता है।


    23.Kabj kaise dur kare  संतरा दो नग  लेकर सुबह उसका रस निकल ले , उसमे थोड़ा पानी मिलाकर पी जाए ऐसे में कब्ज में स्वतः आराम मिलता है।

    24. Qabz ka ilaj, पपीता ,अमरुद तो स्वयं कब्ज की औषधीय है ,इनका प्रयोग करते रहने से कब्ज में आराम मिलता है।

    25. Kabz ka gharelu upchar कुलफा ,मेथी चौलाई ,पोइ ,शलजम मूली ,पत्तागोभी,फूलगोभी या चुकंदर की ताज़ी पत्तियो का किसी न किसी रूप में सेवन अवश्य करे इनका गाजर तथा टमाटर का सूप पिए।

    26. Kabj ka ilaj सुबह उठते ही बासी मुह ताँबे के बर्तन में साफ़ रक्खा हुआ पानी पिटे रहने से कब्ज दूर रहता है।

    कब्ज के रोगियों को अधिक से अधिक पके हुए पपीते का सेवन करना चाहिए। 

    27. Qabz ka gharelu ilaj  गव्वारपाठ की मांसल पत्तियो के रस अथवा गूदे माँ नमक मिलाकर सेवन करने से कब्ज दूर होती है.

    28.Kabz constipation सौंठ का चूर्ण २ ग्राम लेकर उसमे थोड़ा सा नमक मिला ले गर्म पानी के साथ इसे ग्रहण करते रहने से कब्ज की शिकायत दूर हो जाती  है।

    29.  Kabz ka gharelu upchar शयन में रात्रि को आम चूसकर दूध पी  जाए प्रातः हाजत होगी रात्रि में सेब खाना भी कब्जनाशक है खरबूजा खाने से भी कब्ज नहीं होता।

    30.Kabj Gharelu Upcharयदि कब्ज दीर्घकाल से चल रहा हो तो पेड़ू पर गीली मिटटी लपेटके पोटली की तरह बांधे  बंधा मल खुल कर आएगा।


    31.Kabj Dawa, नागौरी असगंध कूट.पीसकर चूर्ण  बनाकर गाय के दूध के साथ रात्रि में तीन माशे रात को सोते समय ले प्रातः मल खुलकर आएगा।

    32.Kabj ke upay in hindi,  त्रिफला जल व शहद का रात्रि में सेवन करे इससे कब्ज चला जाता है।

    33.Kabj kaise dur kare  सामान्य कब्ज हो तो रात्रि में शयन से पूर्व १०-१२ मुनक्के बीज निकालकर दूध में उबालकर खाये और वही दूध पी जाए।


    34.Qabz ka ilaj, कब्ज पुराना व बिगड़ा हो तो संतरो को खाली पेट खाये  रस में शहद नमक शक्कर आदि कुछ भी न डाले।

    35.Kabz ka gharelu upchar इसबगोल की भूसी को आधा पाँव  दही में मिलाये इसे  खाने से भी जाती है कब्ज की शिकायत नहीं रहती।

    36. Kabj ka ilaj एक चम्मच त्रिफला चूर्ण व एक गिलास दूध लेने से भी कब्ज की शिकायत नही रहती ।

    37. Qabz ka gharelu ilaj पीली काबली हरण को रात में भिगोकर प्रातः मथकर उसमे थोड़ा नमक मिलाये तथा ली जाए  कितना भी पुराना कब्ज हो दूर हो जाता है।

    38. Kabz constipation एरंड का तेल आयु के अनुसार गर्म पानी या दूध में मिलाकर शयन से पूर्व ले शौंच खुल कर आएगा।


    39. Qabz ka gharelu ilaj यदि कच्ची शलजम खाई जाए तो दस्त खुलकर व साफ़ आने लगती है।

    40.Kabj Gharelu Upchar  रात्रि में हरड़ खाने से सुबह पेट साफ़ हो जाता है और कब्ज दूर हो जाता है।


    41.Kabj Dawa, भोजन के बाद दूध के साथ आम खाने से कब्ज ठीक हो जाता है।


    42.Kabj ke upay in hindi,   अमलतास का फूल व गूदा खाने से कब्ज ठीक हो जाता है।

    43.Kabj kaise dur kare  सौंठ ,दालचीनी ,जीरा ,इलाइची ४.४ ग्राम लेकर एक रत्ती केसर मिलाकर सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर होती है।

    44. Qabz ka ilaj,  गर्म पानी में एक गुलाब का फूल भिगो दे और उसे मथकर शहद डालकर वह पानी पी जाए इससे कब्ज दूर हो जाती है।


    45.Kabz ka gharelu upchar तिल कूटपीस कर इसमें थोड़ी खांड मिलाके सेवन करने से भी कब्ज दूर हो जाता है।

    46.Kabj ka ilaj  तीन चम्मच मूंगफली के तेल में  थोडा- सा शहद मिलाकर सेवन करने से कब्ज रोग ठीक हो जाएगा।


    47. Qabz ka gharelu ilaj भोजन और खाने की आदतों में सुधार लाना आवश्यक है भोजन में हरी सब्जियों एसलादए आदि रेशे युक्त पदार्थो की कमी है एतो इनकी पर्याप्त मात्रा लेनी चाहिए।

    48.Kabz constipation मैदे का प्रयोग भोजन में बंदकर चोकर युक्त आते की रोटी खाना शुरू करे एमशीन का साफ़ किया हुआ चावल या पोलिश किये अनाज का प्रयोग बंद कर  दे।

    49., Qabz ka gharelu ilaj  पानी दूषित या भारी होने की स्थिति में उबालके पिए गरिष्ट भोजन का त्याग करके हल्का व सुपाच्य भोजन खाये।

    50.Kabj Gharelu Upchar मरीज को चिंता शोक भय  अवसाद आदि मानसिक भावो का त्याग कर प्रसन्नचित्त रहना चाहिए।

    51.Kabj Dawa, सुबह खाली पेट सेब छिलका सहित खाये।

    52.Kabj ke upay in hindi  सुबह खाली पेट पपीते की फांक पर कला नमक ए काली मिर्च व नीम्बू डालकर ले ]दोपहर व रात के भोजन में भी नीम्बू का प्रयोग करे।

    53.Kabj kaise dur kare  नाश्ते  में एक चम्मच गुलकंद को एक गिलास  संतरे के रस के साथ ले।

    54.Qabz ka ilaj   सुबह -शाम नारियल का एक -एक गिलास  पानी पिए।



    55.Kabz ka gharelu upchar पके हुए आम का रस गर्म दूध के साथ ले।

    56.Kabj ka ilaj गेंहू के चोकर की चाय बनाकर ले  चोकर को ६ गुना पानी में उबालकर उसमे नीम्बू व शहद मिलाकर रात को सोते समय ले। 

    57. Qabz ka gharelu ilaj एरंड का ताल ४ चम्मच रात को सोते समय गर्म दूध के साथ ले अथवा ४ चम्मच एरंड का तेल तथा सौंठ का काढ़ा बराबर मात्रा में मिलाकर प्रातः काल ले।

    58.Kabz constipation पके हुए बाले का गूदा गुड़ के साथ रात को सोते समय ले।

    59.Qabz ka gharelu ilaj सुबह खली पेट एक गिलास गुगुने पानी में नीम्बू व एक चम्मच शहद मिलाकर ले।

    60.Kabj Gharelu Upchar बेल गिरी का गूदा गुड़ या  शक्कर के साथ रात को सोने से पहले ले। 

    61.Kabj Dawa, २.३ सूखे अंजीर रातभर  पानी में भिगोकर  रखे   अगली सुबह एक चम्मच शहद के साथ ले  यदि  मधुमेह  के कारण कब्ज  हो  तो  सिर्फ  अंजीर के बीज ही शहद के साथ लेएगूदा नहीं।

    62.Kabj ke upay in hindi,  रात में पानी में भिगोकर रखे हुए दो सूखे आवले या दो ताजे आवले का गूदा सुबह एक चम्मच शहद में मिलाकर ले।

    63.Kabj kaise dur kare संतरे ,बेल , अनार या नीम्बू का शरबत २०-४० मिली लीटर दिन में तीन बार ले।

    64.Qabz ka ilaj,  काबुली पीली  हरड़ रात को पानी में भिगोलें  सुबह हरड़ को भिगोये हुए पानी में रगड़े व थोड़ा सा नमक मिलाकर पिलाये एक हरड़ ५-७ दिन काम देगी द महीने भर में पुरानी से पुरानी  कब्ज भी दूर हो जाएगी।

    65. Kabz ka gharelu upchar २० मुनक्के एक गिलास दूध में उबालकर रात में सोने से पहले ले। 

    66.Kabj ka ilaj  एक भाग सौंठ ए ५ भाग त्रिफला और ५ भाग सौफ को बारीक पीस ले द्य बाद में इसमें ५ ग्राम बादाम की गिरी और ३ भाग मिश्री मिलाकर कूट ले द्य रात को सोने से पहले यह ऐ चमच दवा दूध के साथ लेने से कब्ज ख़त्म हो जाती है।

    67.Qabz ka gharelu ilaj  हींग , सेंधा  नमक और शहद  बराबर मात्रा में लेकर मिलाये तथा एक से २ इंच लंबी व डेढ़ इंच मोती बत्ती बनाये  इस बत्ती को घी से चिकना कर गुदा मार्ग में डाले।

    68. Kabz constipationएक एक चम्मच बादाम रोगन गर्म दूध में सुबह शाम ले।

    69.Qabz ka gharelu ilaj बथुए की सब्जी का प्रयोग अधिक करे ए इसमें तेल न डाले ए केवल थोड़े से सेंधा नमक का प्रयोग करे।

    70. Kabj Dawa बथुए का रायता भी कब्ज में लाभदायक है  बथुए के उबले हुए पानी में नीम्बू का रस  जीरा , कालीमिर्च ,सेंधानमक मिलाकर दिन में ३ बार पिए।


    71.Kabj ke upay in hindi,  सौफ को तवे पर भूने , अधभुनी अवस्था  में इसे उतारले और सुबह शाम भोजन के बाद इसका सेवन करे।

    72.Kabj ke upay in hindi,  रात में भोजन के साथ एक या दो अमरूद खाये ,नाश्ते में यदि अमरूद लिया जाये तो कब्ज के साथ- साथ अफारा , पेट गैस आदि अनेक रोगों में फायदा होता है  कला नमक ,कालीमिर्च व नीम्बू स्वाद के अनुसार प्रयोग करे।

    73.Kabj kaise dur kare, पके हुए दो केले नियमित रूप से रात को खाये।

    74.Qabz ka ilaj  रात को सोने से पहले एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच नीम्बू का रस मिलाकर ले।

    75.Kabz ka gharelu upchar सुबह खली पेट तरबूज खाये या तरबूज का रस पिए।

    76.Kabj ka ilajअमलतास के फूल छाया में सुखाकर करके मिश्री बराबर भाग मिलाकर चूर्ण कर ले. ६ ग्राम चूर्ण पानी के साथ रोज लिया करे. इस उपचार से कब्ज (kabj) दूर हो जायेगा। 

    77.Qabz ka gharelu ilaj  रात में रट समय दूध में मुनक्के (बीज निकल कर) उबल कर खाने से कब्ज (kabj)  दूर हो जाता है। 

    78.Kabz constipation  कब्ज (kabj) हो गया हो तो काला तिल कूट कर गुड के साथ ५० ग्राम सुबह और ५० ग्राम शाम को लेने से कब्ज (kabj)  में लाभ होता है। 

    79. Qabz ka gharelu ilaj दो अंजीर १२ घंटे पानी में भिगोकर रखे. सुबह चबा-चबाकर खाये और उसका पानी पी जाये पर पानी घुट-घुट  करके पी ले. इससे आपका कब्ज दूर हो जायेगा। 

    80. Kabj Gharelu Upchar  एक भाग हरड़, दो भाग त्रिफला और चार भाग आंवले को मिलकर कूट पीसकर गुणकारी औषधि त्रिफला बनती है. रात को सोने से पाहले हलके गरम पानी से या दूध से ५ ग्राम त्रिफला चूर्ण लेने से कब्ज (kabj) ठीक हो जाता है। 



    For More Remedies of Constipation : Click Here 1



                                                                                               Click Here 2




    • Blogger Comments
    • Facebook Comments
    Item Reviewed: कब्ज रोकने 80 आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे- Top 80 Treatment for Constipation-kabj Hindi Rating: 5 Reviewed By: Gharelu Upay
    loading...
    Scroll to Top