• Latest News

    Gharelu Upchar. Blogger द्वारा संचालित.
    रविवार, 18 जनवरी 2015

    Diabetes ,Madhumeh, Sugar Treatment Hindi

    Loading...

    sugar rog ka upchar, sugar ke gharelu upchar in hindi, sugar ke upchar, sugar ka ilaj hindi me, sugar ke gharelu nuskhe in hindi, diabetes ka ayurvedic ilaj in hindi, sugar ke desi nuskhe, madhumeh upchar, sugar ka ayurvedic ilaj, diabetes ka gharelu ilaj in hindi, diabetes ka ilaj, diabetes ke gharelu upchar, madumeh, sugar ka ilaj nuskha, madhumeh rog, sugar ki desi dawa, sugar ka gharelu upay, sugar ka upay, sugar ka desi ilaj, diabetes ke upchar, madhumeh ke desi nuskhe, madhumeh ka ilaj hindi me, madhumeh ka desi ilaj, diabetes ka ilaj in hindi,
    sugar ka desi ilaj hindi, sugar ka gharelu upchar, sugar ke upay in hindi, madhumeh rog in hindi, madhumeh ke gharelu upchar, madhumeh ka ilaj, diabetes ke gharelu upay, sugar ka upchar, diabetes ke liye gharelu nuskhe, diabetes ke gharelu nuskhe in hindi, madhumeha ayurvedic treatment in hindi, diabetes ka gharelu upchar, diabetes gharelu upchar, Madhumeh, sugar ka desi ilaj hindi me, madhumeh rog ka upchar, madhumeh ka gharelu upchar, sugar ka gharelu ilaj in hindi, sugar ka desi ilaj in hindi, sugar ka ilaj in hindi, sugar ka ayurvedic upchar in hindi, madhumeh ka upchar, madhumeh ka upchar in hindi,



    What is diabetes?

    पेशब के साथ जब चीनी जैसा मधु पदार्थ निकलता है, तो उसे मधुमेह Diabetes रोग कहते हैं। यह रोग धीरे-धीरे होता है। डायबिटीज Madhumeh एक ऐसा रोग है जिसके रोगी को बहुत समय तक तो इस रोग का अहसास ही नहीं हो पाता। औरतों की अपेक्षा पुरुषों में यह रोग अधिक देखा गया है। मोटे आदमी अक्सर इस रोग से पीडि़त देखे जाते हैं। पहले यह रोग प्रायः 40.50 वर्ष की अवस्था में या इसके बाद होता था, लेकिन आजकल छोटे बच्चों के भी यह बीमारी देखी गयी है। मधुमेह रोग में पैतृक प्रभाव का भी बहुत अधिक हाथ है। 
        शरीर में इंसुलिन नामक तत्त्व पाचन क्रिया से सम्बन्धित पेनक्रियाज ग्रंथि से उत्पन्न होता है, इससे शक्कर रक्त में प्रवेष करता है और वहाँ ऊर्जा में परिवर्तित हो जाता है। उक्त पेनक्रियाज ग्रंथि जितनी शरीर को शुगर की आवष्यकता होती है उतनी रख लेती है शेष शुगर को जला देती है। मगर यह पेनक्रियाज ग्रंथि इंसुलिन पैदा करना बन्द कर दे या कम कर दे या किसी कारण से यह रस बाधक हो तो डायबिटीज diabetes (मधुमेह madhumeh) रोग पैदा हो जाता है। ऐसी अवस्था मेें शक्कर रक्त में चला जाता है और ऊर्जा में परिवर्तित नहीं हो पाता है तथा मू़त्र के द्वारा भी बाहर निकल जाता है। यह रोग दो प्रकार का होता है- 1 डायबिटीज Diabetes    मेलिट्रस (Madhumeh),  2  डायबिटीज Diabetes इन्सिपिड्स (बहुमू़त्र)।

    Diabetes Upchar
    Diabetes madhumeh ayurvedic illaj


    मधुमेह के लक्षण व कारण -

    Diabetes-Sugar Symptoms-

    मधुमेह की उत्पत्ति का कारण अग्न्याषय (पेनक्रियाज) में उत्पन्न होने वाले तत्व इंसुलिन की कमी माना जाता है। मूत्र और रक्त की जाँच से दोनों में शर्करा आना इसका सही निदान है। अधिक प्यास, अधिक भूख लगना, बार-बार पेषाब जाना, बार-बार फोडे़-फुँसी होना, घाव न भरना, पैरों में दर्द, नेत्र दृष्टि में गिरावट, कब्ज रहना, टी0 बी0, शर्करा अधिक बढ़ने पर दुर्बलता, घबराहट, रक्त संचार की वृद्धि, बेहोषी होती है। सिर-दर्द, कब्जी, चमड़ा सूखा, खुरखुरा, खुजली, घावों का न भरना आदि मधुमेह के लक्षण हैं।
    अधिक टीवी देखना मधुमेह का कारण- यदा-कदा टीवी देखने की आदत शौक में शुमार होती है और इससे सेहत को कोई खतरा नहीं होता लेकिन यदि सप्ताह में 20 घंटे तक टीवी देखें तो हो सकता है कि आप मधुमेह को आमंत्रण दे रहे हैं। अमरीकी शोधकर्त्ताओं ने एक अध्ययन में कहा है कि सप्ताह भर में बीस घंटे तक टीवी देखेने वाले पुरुषों में आगे चलकर मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है। कहा है कि टीवी देखने में अधिक समय व्यतीत करने से 40  वर्ष या उससे अधिक आयु के पुरुषों में मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है। इस आयु वर्ग के अधिक वजनी वयस्क ही अमूमन रोग की चपेट में आते हैं। शोधकर्त्ताओं ने कहा है कि बैठे-ठाले टीवी देखने की जीवनषैली का मधुमेह से सीधा सम्बन्ध है। नियमित व्यायाम से मधुमेह से बचा जा सकता है।
    (1) मधुमेह एक लंबी अवधि की स्थिति है जो उच्च रक्त शर्करा के स्तर का कारण बनता है|
    (2) बार-बार पेशाब आना।
    (3) बहुत ज्यादा प्यास लगना।
    (4) बहुत पानी पीने के बाद भी गला सूखना।
    (5) 2013 में दुनिया भर में 382,000,000 से अधिक लोगों को मधुमेह (एंडोक्रिनोलॉजी का विलियम्स ) था कि अनुमान लगाया गया था।
    (6) गर्भावधि मधुमेह - इस प्रकार की गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को प्रभावित करता है|
    (7) सबसे आम मधुमेह लक्षण अक्सर पेशाब, तीव्र प्यास और भूख, वजन, असामान्य वजन घटाने, थकान, कटौती और घाव  जल्दी ठीक नही होता , पुरुष यौन रोग, स्तब्ध हो जाना और हाथ और पैर में झुनझुनी शामिल हैं।

    Type 1 Diabetes -

    इस अवस्था में शरीर में इंसुलिन का उत्पादन नहीं होता है| सभी मधुमेह के मामलों में  लगभग 10% Type 1 Diabetes के होते है| शरीर समुचित कार्य के लिए पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता। मधुमेह के सभी मामलों में  लगभग 90% दुनिया भर में इस प्रकार के होते हैं-
    (1) खाना खाने के बाद भी बहुत भूख लगना।
    (2) त्वचा या मूत्रमार्ग में संक्रमण।
    आप टाइप 1 Type 1 Diabetes  है और एक स्वस्थ भोजन की योजना का पालन करें, पर्याप्त व्यायाम करते हैं, और इंसुलिन लेते हैं, आप एक सामान्य जीवन व्यतीत कर सकते हैं।

    Type 2 Diabetes

    टाइप 2 रोगियों को जरुरी होता की वो स्वस्थ खाना खाए   , शारीरिक रूप से सक्रिय हो , और उनके रक्त में ग्लूकोज का परीक्षण नियमित कराये ।
    (1) मांसपेशियों में दर्द।
    (2) हर समय कमजोरी और थकान की शिकायत होना।
    ( 2) मितली होना और कभी-कभी उल्टी होना।
    (3) हाथ-पैर में अकड़न और शरीर में झंझनाहट होना।
    मधुमेह का उपचार मधुमेह का घरेलु  उपचार देसी नुस्खे

    Diabetes, Madhumeh desi illaj gharelu upchare treatment hindi

    (1) जामुन- जामुन का फल खाने में जितना स्वादिष्ट और रुचिकारक होता है उतना ही शुगर की तकलीफ में लाभदायक होता है. इसके लिए जामुन के सेशन में जामुन के फल खाए जा सकते है  और सीजन न होने पर जामुन की घुटली का चूर्ण सुबह शाम बूखे पेट पानी से ले सकते है|
    (2) मधुमेह के मरीज को प्यास अधिक लगती है। अतः बार-बार प्यास लगने की अवस्था में नीबू निचोड़कर पीने से प्यास की अधिकता शांत होती है।
    (3) खीरा खाकर भूख मिटाइए
    (4) एक टमाटर, एक खीरा और एक करेला को मिलाकर जूस निकाल लीजिए। इस जूस को हर रोज सुबह-सुबह खाली पेट लीजिए। इससे Sugar-Diabetes में बहुत फायदा होता है।
    (5) गेहूं के पौधों में रोगनाशक गुण होते हैं। गेहूं के छोटे-छोटे पौधों से रस निकालकर प्रतिदिन सेवन करने से भी मुधमेह Diabetes नियंत्रण Control में रहता है।
    (6) मधुमेह Madumeh के मरीजों को भूख से थोड़ा कम तथा हल्का भोजन लेने की सलाह दी जाती है। ऐसे में खीरा नींबू निचोड़कर खाकर भूख मिटाना चाहिए।
    (7) मधुमेह Diabetes उपचार Upchar मे शलजम का भी बहुत महत्व है । शलजम के प्रयोग से भी रक्त में स्थित शर्करा की मात्रा कम होने लगती है। इसके अतिरिक्त मधुमेह के रोगी को तरोई, लौकी, परवल, पालक, पपीता आदि का प्रयोग भी ज्यादा करना चाहिए।
    (7) 6 बेल पत्र , 6 नीम के पत्ते, 6 तुलसी के पत्ते, 6 बैगनबेलिया के हरे पत्ते, 3 साबुत काली मिर्च ताज़ी पत्तियाँ पीसकर खाली पेट, पानी के साथ लें और सेवन के बाद कम से कम आधा घंटा और कुछ न खाएं , इसके नियमित सेवन से भी शुगर Sugar सामान्य हो जाती है ।
    (8) मरीजों को भूख से थोड़ा कम तथा हल्का भोजन लेने की सलाह दी जाती है। ऐसे में बार-बार भूख महसूस होती है। इस स्थिति में खीरा खाकर भूख मिटाना चाहिए।
    (9) गाजर-पालक को औषधि बनाइए|

     Sugar, Madhumeh, Diabetes ke Gharelu Upchar, Nuskhe, Ilaj, Dawa, Treatment

    (1) Diabetes ke upchar me taje amla ke ras me shahed milkar peense Sugar thik hota hai
    (2) Sugar ka desi ilaj- Sugar Dur Karene ke Upay me Madhumeh Rogi ko karela ek uttam gharelu Dawa hai. Roj subh karele ka ras peene ya din me 15 gram karele ka ras me 100 gram paani milakar Diabetes ko bhut kaam kar deta hai. Sugar ko bhi normal karta hai.
    (3) Sugar ka gharelu upay- Diabetes hone par aate me methi ka churan milkar roti banakar khane se madumeh dur hota hai.
    (4) Madhumeh rogi ko narangi kaam matra me khani chaiye isse apka Diabetes badhta hai.
    (5) Sugar ki desi dawa- Diabetes ki Desi Dava me, raat ko 150 gram kale chane dudh me bhego de aur subah khaye sath hi bacha hua Dudh pee jaye. Jav aur chane barabar matra me milkar iske aate ki roti Subh Sham Khaye. Khaali beshan ki roti hi 10 din takh khate rahne se  Peshab me Sugar ani band ho jayegi.
    (6) Sugar ka ilaj Nuskha- Madumeh ki bimari me Neem ki kopal khane se Sugar ki matra shrir se kaam ho jati hai. Sath hi koon Saaf hota hai.
    (7) Diabetes ke gharelu upchar- Madumeh me agar bar-bar aur adhik matra me peshab aye, pyas lage to 8 gram peesi hui haldi roj 2 bar paani ke sath fank le ya adha chammach milkar chate. Sugar dur karne me bhut labh hoga.
    (9) Diabetes ka ilaj- Jaamun ki guthali 10 gram, Gudmaar chura 20 gram ye sabhi 10 gram, teno bareek churan ke rup me. Inhe Gawarpathe ke ras me achi trah milakar choti- choti goliya bana le. Din me ek-ek goli shahed ke sath khane se mutra me sugar ki matra dheere-dheere kam ho jati hai.
    (10) Diabetes ka gharelu ilaj in hindi- Danamethi peesi va sukha karela peeskar barabar matra me churan bana le. Subh bina kuch khaye piye 2 chammach pani ke sath roj lene se Madhumeh rog me bhut jada laabh hoga.
    (11) Sugar ka Ayurvedic ilaj- Madhumeh par kabu pane ke liye aam ki komal pattiyo ko raat bhar pani me bhegokar subh usi me nichodkar paani paani peena chaiye. Is Ayurvedic ilaj se apka Sugar Control ho jayega.
    (12) Madhumeh Upchar- Kaccha Kela Diabetes Upchar me bhut fayedmand hai.
    (13) Sugar Ke Desi Nuskhe- Mungfali ke aate me roti banakar khane se Madhumeh dur hota hai.
    Related Treatment  In Hindi

    Ask Question to Top Diabetes SpecialistsWorried about Diabetes? Get answers to your questions from 1000+ top Diabetes Specialists online.

    • Blogger Comments
    • Facebook Comments
    Item Reviewed: Diabetes ,Madhumeh, Sugar Treatment Hindi Rating: 5 Reviewed By: Gharelu Upay
    loading...
    Scroll to Top